पुरातन छात्र

सूचना पट्ट  

संगठन

  पुरातन छात्र संगठन के उद्देश्य एवं लक्ष्य

संगठन एक गैर-लाभकारी संस्था होगी जो निम्नलिखित लक्ष्यों और उद्देश्यों के लिए कार्य करेगा :

  1. के.उ.ति.शि.सं. की लोकतांत्रिक और समावेशी परंपराओं की मूल अवधारणा को बनाए रखना और एएसीआईएचटीएस द्वारा अपनी गतिविधियों के माध्यम से उन्हें आगे बढ़ाने का प्रयास करना, जिसमें उन सभी विषयों पर केंद्रित वार्षिक और आवधिक व्याख्यान/सेमिनार/संगोष्ठी आदि का आयोजन शामिल है जो निहित मूल्यों के बारे में हमारी समझ को और स्पष्टता से प्रस्तुत करते है, जिससे विश्वविद्यालय के उद्देश्यों की पूर्ति में सहायता और प्रशंसा मिलती है ।
  2. के.उ.ति.शि.सं. के पुरातन छात्रों और के.उ.ति.शि.संस्थान के मध्य घनिष्ठ संबंध को बढ़ावा देना -
  3. के.उ.ति.शि.संस्थान के पुरातन छात्रों के आपसी सहयोग से शैक्षणिक और सांस्कृतिक शिक्षा को उत्कृष्ट बनाने हेतु आपसी सहयोग एवं समन्वय को प्रोत्साहित करना ।
  4. के.उ.ति.शि.संस्थान के पुरातन छात्रों की भूमिका को पहचानना तथा आपसी समन्वय को प्रोत्साहित करना ।
  5. विश्वविद्यालय के साथ के.उ.ति.शि.संस्थान के पुरातन छात्रों के सहयोग एवं समन्वय से संस्था को होने वाले लाभों का एहसास करना तथा आवश्यकतानुसार रणनीतिक दिशाओं की पहचान कर उनका सहयोग लेना ।
  6. सामुदायिक सेवा में अवसर प्रदान करना तथा उन्हें भारत और विदेश में के.उ.ति.शि.संस्थान के सद्भावना दूत के रूप में कार्य करने के लिए प्रोत्साहित करना तथा सहयोग लेना ।
  7. शांति और निरस्त्रीकरण के मुद्दे को कायम रखने और संसार के समस्त लोगों में और राष्ट्रों के बीच मित्रता और सहयोग को बढ़ावा देने और विश्वविद्यालय को उचित सामग्री और बौद्धिक सहायता प्रदान करने में तथा विशेष रूप से इससे सम्बंधित अग्रणी अनुसंधान क्षेत्रों का पता लगाने और उसे प्रोत्साहित करने में प्रभावी समन्वयक के रूप में कार्य करना;
  8. के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्रों के बीच शैक्षणिक और व्यावसायिक वार्ता और नेटवर्किंग सुविधा प्रदान करना और के.उ.ति.शि.संस्थान छात्र समुदाय के लिए व्यावसाय के अवसर पैदा करने का प्रयास करना;
  9. पुरातन छात्रों और उनके परिवार के सदस्यों के बीच सामाजिक-सांस्कृतिक कार्यक्रम और बातचीत आयोजित करना;
  10. के.उ.ति.शि.संस्थान के प्रतिष्ठित उन पुरातन छात्रों को सम्मानित करना, जिन्होंने अपने से संबंधित क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन और योगदान दिया है ।
 

पुरातन छात्र संगठन का मुख्य कार्यालय

संगठन का मुख्य कार्यालय के.उ.ति.शि.संस्थान मुख्य परिसर में स्थित होगा और संगठन का संचालन इस कार्यालय के माध्यम से किया जाएगा।

पुरातन छात्र संगठन की सदस्यता के लिए पात्रता

पुरातन छात्र संगठन की सदस्यता हेतु आमंत्रित:

  1. जो पुरातन छात्र के.उ.ति.शि.संस्थान के पूर्णकालिक पुरातन छात्र रहे हैं और स्नातक/स्नातकोत्तर या एम.फिल./पी-एच.डी. के उपाधि धारक हों ।
  2. जो पुरातन छात्र के.उ.ति.शि.संस्थान के एकल निर्दिष्ट शैक्षणिक कार्यक्रम में कम से कम चार पूर्ण अधिसत्र के लिए लगातार पंजीकृत रहे हों;
  3. जिन्होंने के.उ.ति.शि.संस्थान में पोस्ट-डॉक्टरल फेलो के रूप में कम से कम दो वर्षों तक लगातार काम किया हो;
  4. जिन्हें के.उ.ति.शि.संस्थान द्वारा मानद उपाधि प्रदान की गई है। परन्तु उनके पास कोई मतदान अधिकार नहीं होगा;

के.उ.ति.शि.संस्थान का कुलपति "पुरातन छात्र संगठन का पदेन संरक्षक" होगा और इस कारण वह एक सदस्य के सभी विशेषाधिकारों से युक्त होगे, परन्तु उन्हें संगठन की किसी भी बैठक में मतदान का अधिकार नहीं होगा। पुरातन छात्र संगठन का एक मुख्य सलाहकार होगा जो संस्थान का पुरातन छात्र या एक संकाय का सदस्य होना चाहिए।  .

सदस्यता पंजीकरण और शुल्क

जो लोग संविधान के खंड 4 के तहत के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्र संगठन की सदस्यता के लिए अर्हता प्राप्त करते हैं, वे पंजीकरण प्रपत्र भरकर (व्यक्तिगत या इलेक्ट्रॉनिक रूप से) और रुपये का भुगतान करके.उ.ति.शि.संस्थान के कार्यालय में स्वयं को पंजीकृत करा सकते हैं। आजीवन सदस्यता शुल्क 500 रु. भारत के बाहर (भूटान और नेपाल को छोड़कर) रहने वाले अनिवासी सदस्यों को आजीवन सदस्यता शुल्क के रूप में 20 अमेरिकी डॉलर या उसके बराबर का भुगतान करना होगा।

सामान्य सभा

 
  1. आम सभा, जिसमें के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्र संगठन के सभी पंजीकृत सदस्य शामिल होंगे, जो संगठन का सर्वोच्च निकाय होगा और वर्ष में कम से कम एक बार सारनाथ, वाराणसी में बैठक करेगा।
  2. कुल सदस्यता का बीसवां हिस्सा सामान्य निकाय की बैठक का कार्यसाधक संख्या को पूरा करेगा। यदि बैठक की निर्धारित तिथि, समय और स्थान पर कार्यसाधक संख्या नहीं है, तो बैठक स्थगित कर दी जाएगी और 30 मिनट के बाद फिर से शुरू की जाएगी तब कार्यसाधक सदस्यों के संख्या की बाध्यता नहीं होगी।
  3. बशर्ते कि के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्र संगठन के संविधान में कोई संशोधन करने के लिए बैठक आहूत न की गई हो, बैठक की शुरुआत में सदस्यता के छठे हिस्से की कार्यसाधक संख्या होना चाहिए और संशोधन दो तिहाई सदस्यों की उपस्थिति के साथ किया जा सकता है।
  4. संविधान में संशोधन के पक्ष में उपस्थित और मतदान करने वाले सदस्यों की संख्या सामान्य निकाय के पास बदलाव संबंधित सभी मामलों पर विचार करने निर्णय लेने और के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्र के कामकाज के लिए एक व्यापक नीति ढांचा प्रदान करने की शक्ति होगी।
  5. के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्र संगठन की गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए आम सभा एक "कार्यकारी समिति" (जो "ईसी" के रूप में संदर्भित) का भी चुनाव करेगी। निर्वाचित ई.सी. का कार्यकाल कार्यभार ग्रहण करने की तिथि से तीन वर्ष का होगा।
  6. के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्र संगठन के सभी पंजीकृत सदस्यों के पास मतदान का अधिकार होगा और वे कार्यकारी समिति के लिए चुने जाने के पात्र होंगे। कोई भी सदस्य लगातार दो कार्यकाल से अधिक के लिए चुनाव में नामांकन नहीं करना चाहिए ।
  7. बैठक की कार्यसूची कार्यकारी समिति के अनुमोदन से महासचिव द्वारा तैयार की जायेगी। हालाँकि, सामान्य निकाय के सदस्य पहले से लिखित अनुरोध करके या बैठक के अंत में "अध्यक्ष की अनुमति से कोई अन्य प्रस्ताव" के अंतर्गत विषय उठा सकते और कार्य सूची में किसी प्रस्ताव को शामिल करवा सकते हैं।
 

कार्यकारी समिति

 
  1. के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्र संगठन का प्रबंधन तीन वर्षों के लिए आम सभा द्वारा चुने गए ग्यारह सदस्यों वाली एक कार्यकारी समिति में निहित होगा।
  2. के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्र संगठन की गतिविधियों को प्रभावी ढंग से संचालित करने हेतु आवश्यकतानुसार बैठक करेगा परन्तु वर्ष में कम से कम दो बार बैठक अवश्य होगी।
 

कार्यकारी समिति की संरचना इस प्रकार होगी:

(ए) अध्यक्ष (एक)

(बी) महासचिव (एक)

(सी) कोषाध्यक्ष (एक)

(डी) सदस्य (आठ)

(ई) मुख्य सलाहकार, पुरातन छात्र मामले, के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्र संगठन (पदेन सदस्य, मतदान के अधिकार के बिना)

के.उ.ति.शि.संस्थान के किसी भी कर्मचारी/कर्मचारी संघ के पदाधिकारी हैं या के.उ.ति.शि.संस्थान प्रशासन का हिस्सा हैं, वे के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्र संगठन की कार्यकारी समिति में सदस्य नहीं होंगे।

रिक्तियां:

कार्यकारी समिति) ईसी में स्थान रिक्त होने की स्थिति में, उसे भरा जा सकता है

  1. यदि ईसी की शेष अवधि 6 महीने से कम है तो नामांकन द्वारा;
  2.  यदि ईसी की शेष अवधि 6 महीने या उससे अधिक है तो चुनाव द्वारा ।

निलंबन : यदि कोई सदस्य, के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्र संगठन के हितों के विरुद्ध काम करता पाया जाता है या गंभीर दुर्व्यवहार में शामिल पाया जाता है, तो उसे के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्र संगठन की कार्यकारी समिति द्वारा कारण बताओ नोटिस देकर एक अवसर प्रदान करके निलंबित किया जा सकता है। उसके आचरण को समझने के लिए आगामी आम सभा की बैठक में आगे इस विषय पर विचार होगा जो कार्यकारी समिति द्वारा निर्दिष्ट काल अवधि को रद्द करने का निर्णय ले सकती है। कार्यकारी समिति द्वारा निर्दिष्ट अवधि के लिए उसे ईसी या के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्र संगठन की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित या निष्कासित कर दिया जाएगा।

कार्यकारी समिति की शक्तियाँ एवं कार्य

कार्यकारी समिति के पास निम्नलिखित शक्तियाँ और कार्य होंगे:

  1. इसमें के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्रों को विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में नामित करने की शक्ति होगी। इन विशेष आमंत्रितों को चुनाव आयोग में मतदान का कोई अधिकार नहीं होगा।
  2. ईसी में सभी निर्णय उपस्थिति और मतदान करने वाले सदस्यों के साधारण बहुमत द्वारा लिए जाएंगे, किसी सदस्य के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई के मामले को छोड़कर, जिसका निर्णय उपस्थित और मतदान करने वाले दो तिहाई सदस्यों द्वारा किया जाएगा;
  3. बैठक की कार्य सूची अध्यक्ष के अनुमोदन से महासचिव द्वारा तैयार की जायेगी। हालाँकि, ईसी के सदस्य पहले से लिखित अनुरोध करके भी कार्य सूची में किसी विषय को शामिल करवा सकते हैं।
  4. आम सभा के समक्ष रखे गए वार्षिक बजट में प्रावधान के अधीन, ईसी के पास अपनी गतिविधियों को संचालित करने के लिए वित्तीय शक्तियां होंगी। ईसी के पास (i) बैंक खाता खोलने की शक्तियां होंगी; (ii) धन प्राप्त करना और खर्च करना और (iii) खाते निरंतरताबनाए रखना
  5. ईसी इस संविधान के तहत के.उ.ति.शि.संस्थान पुरातन छात्र संगठन के साथ-साथ संस्थान पुरातन छात्रों के लिए नियम और दिशानिर्देश तैयार करेगा।
 
  1. पदाधिकारियों के कर्तव्य एवं शक्तियाँ

President

  1. The President shall be the custodian of the property and interests of The Association and shall have all the powers to manage and promote the ‘Aims and Objectives of The Association, in accordance with this Constitution and the Rules to be framed hereunder.
  2. He/she shall decide the date, time and venue of the meeting(s) in consultations with the General Secretary, and accordingly the General Secretary shall convene the meetings of EC/ General Body/ Extra ordinary meeting/requisitioned meeting.
  3. PROVIDED THAT in case a requisition is made for the meeting of the General Body, he/she must take a decision fixing the date, time and venue, within fifteen days of the receipt of the request in this regard.
  4. He/she shall preside over the meetings of EC, General Body and the Extra Ordinary Requisitioned meetings of the Association.

PROVIDED THAT while presiding the meetings he/she will have “Casting Vote” only.

  1. In case of any ambiguity in the interpretation of any clause or sub-clause of AACIHTS the interpretation decided by the majority of the EC members shall be operative.
  2. The President or the Secretary will be co-signatory with the treasurer for issuing cheques and the President will also be a co-signatory for the annual statement of the account of the Association, Annual report of the Association and the Annual budget.

 General Secretary

  1. The General Secretary shall carryout the decisions of the EC and General Body of The Association.
  2. He/she shall convene the meetings of the EC, General Body and Special/requisitioned meetings, as per the date, time and venue in consultation with the President and shall record the minutes of the meetings.
  3. He/she shall maintain the Register of names, addresses and occupations of the AACIHTS and EC members.
  4. The General Secretary shall make all correspondences, and coordinate the preparation and distribution of publications of The Association. He/she shall maintain all the records, documents minutes of the meetings of the General Body, EC and Annual Reports etc.
  5. He/she shall be a co-signatory with the Treasurer in financial matters such as Annual Statements of Accounts, Annual Budget and cheques etc. and shall ensure the audit of accounts of The Association carried out by the Auditor, appointed by the EC. He/she shall prepare Annual Report of the Association, every year, for presenting in the meetings of EC and General Body.

 Treasurer

  1. The Treasurer shall be responsible for the maintenance of the financial records and accounts of The Association.
  2. The Treasurer shall operate the funds of The Association jointly with the General Secretary/President.
  3. He/she shall be a co-signatory with the General Secretary / President in financial matters such as Annual Statements of Accounts, Annual Budget and cheques etc.
  4. He/she shall prepare and present the Annual Budget, Annual Statement of Accounts in the meetings of the EC / General Body Accounts of the Association 
  5. The Accounts of the Association shall be maintained in a nationalized bank, jointly operated by the General Secretary/President with the Treasurer. All the decisions in this regard are vested with the EC.
  6. The accounts of The Association shall be audited at least once a year by an Auditor. The Auditor shall ordinarily be appointed by the General Body.

Audit of the accounts

  1. An auditor shall examine the Annual Statement of accounts of The Association and shall have access to accounts and vouchers and related records during the audit. The auditor having examined the EC/General Body. accounts shall submit a separate and independent report to the General Secretary for placing it in the
 

AACIHTS Logo and Website

  1. Information relating to the activities of AACIHTS, including membership details, will be made available online on CIHTS/AACIHTS website. AACIHTS website shall form part of the official CIHTS website and it shall have its own logo with CIHTS insignia scripted on it. If required, AACIHTS may have an independent website also. No other body or agency shall, without due authorization from AACIHTS shall use CIHTS alumni insignia.
 

Amendments

 
  1. The amendment in the Constitution of AACIHTS can be made in by the General Body by not less than two third of the members present and voting.
  2. PROVIDED THAT no amendment will be deemed to have been carried out unless there is a meeting. quorum of one sixth of the AACIHTS membership, at the beginning of the General Body
  3. The notice for the meeting, along with the amendment proposed by the EC shall be issued website. at least 30 days before the date of the meeting. It may also be uploaded on the AACIHTS.
  4. The members of the General Body will have right to suggest changes in the amendment(s) proposed by the EC in writing and in advance to the EC.
 

Rights and Privileges of the members

The members of The Association:

  1. Will be provided an alumni photo-identity card with the membership number inscribed on it.
  2. Will have privilege to use the infra-structural facilities like CIHTS libraries, sports complex, gymnasium, canteens, convention halls, guest house and other general facilities that are accessible to the general community of CIHTS on payment of the applicable fee, if any.
  3. Will have the privilege of participating in conferences, seminars, cultural activities, memorial lectures etc. organized by CIHTS.
  4. Will have the privilege to obtain a temporary car sticker upon request of alumni member as per applicable rules.
  5. Will have a complimentary subscription to ‘CIHTS News’ upon request by the member.
  1. Meetings of AACIHTS
  2. At least one meeting of the Association shall be held during each calendar year which will be called ‘Alumni General Body Meeting’ by giving 45 days’ notice with the agenda of such meetings to all the members and also specifying the date, time and venue. The detailed agenda note, if required may follow.
  3. Other ‘General’ or ‘Extra ordinary’ meetings of General Body may be called by the General Secretary in consultation with the President by giving 14 days’ prior notice along with the agenda of such meeting to all the members and also specifying the date, time and venue.
  4. The General Body meeting/ Extra-ordinary meeting can also be requisitioned by making written/ on line request, by at least 25 members. Such a request to be addressed to the President of the Association and he/she on receipt of such a request shall ask the General Secretary to convene the requisitioned meeting within a month.
  5. One twentieth of the total members should be the quorum required for the meeting. In case, there is no quorum at the prescribed time, date and venue, the meeting may be adjourned and may be resumed after 30 minutes when no quorum would be required. However, in case of the meeting which may have Amendment(s) in the Constitution of AACIHTS on its agenda, the quorum of one sixth of the total members of AACIHTS, would be required even when the adjourned meeting is resumed after 30 minutes.
  6. The minutes of the meetings, recorded by the General Secretary, shall also be signed by the President and circulated to all the members, within one month of the meeting, either by placing it on the website of AACIHTS or by sending it through e-mails or both. Objections, if any, may be communicated by the member(s) to the General Secretary within a month.
  7. The minutes of the previous meeting should be placed in the next meeting by the General Secretary for confirmation, along with a brief action taken report on those points on which action by the EC may be required.
 

Call for AACIHTS meetings and decision making

  1. The meetings of The Association mentioned herein above under clause 9, 13 and 13 shall be convened in the manner as specified therein. However, emergency meetings may be called at a shorter notice as determined by the Executive Committee.
  2. All the decisions in The Association or EC meetings will be taken by majority of votes of the members present and voting. In case of equal voting the Chairperson will have the casting vote.
 

Chief Advisor, Alumni Affairs, CIHTS

 
  1. The Chief Advisor (Alumni Affairs) nominated by the CIHTS Administration shall be the ex-officio member of the EC and shall form an official link between the Alumni and the CIHTS community in furthering the purposes of AACIHTS. He/she should be a former student of CIHTS who is serving in CIHTS in his/her capacity as a Teacher or Research staff member.
  2. Approved by the General Body meeting of CIHTS Alumni held on 5th November, 2014 & it was again Approved by General Body meeting of CIHTS Alumni held on 1st January, 2018 with few amendments.

सूचना पट्ट