कुलपति

कुलपति
केंद्रीय उच्च तिब्बती शिक्षा संस्थान,
सारनाथ, वाराणसी, पिन-221007
फ़ोन: +542-2585242, Fax: +542-2585150
ईमेल vcoffice@cihts.ac.in,

कार्यभार ग्रहण की तिथि: 12th April, 2024

प्रोफेसर वङ्छुग दोर्जे नेगी वर्तमान में केंद्रीय उच्च तिब्बती शिक्षा संस्थान, सारनाथ, वाराणसी के कुलपति हैं। उन्होंने केंद्रीय उच्च तिब्बती शिक्षा संस्थान, सारनाथ से स्वर्ण पदक के साथ बौद्ध दर्शन में आचार्य (एम.ए.) और संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय, वाराणसी से पी-एच.डी. (बौद्ध दर्शन) की उपाधि प्राप्त की है। वह के.उ.ति.शि.सं., सारनाथ में हेतु एवं अध्यात्म विद्या संकाय के मूल शास्त्र विभाग में भारतीय बौद्ध दर्शन के प्रोफेसर रहे हैं। वे हेतु एवं अध्यात्म विद्या संकाय के संकायाध्यक्ष और संस्थान के अनुसंधान एवं विकास प्रकोष्ठ के निदेशक थे। उनके शिक्षण क्षेत्र में चार भारतीय बौद्ध दार्शनिक विद्यालयों के सिद्धांत मध्यमक, योगाचार, सौत्रांतिक और वैभाषिक के साथ-साथ बौद्ध प्रमाण; और बौद्ध नैतिकता भी सम्मिलित हैं। उनकी शोध रुचि बौद्ध तंत्र और बौद्ध शास्त्रार्थमीमांसा आदि से सम्बन्धित विषयों में है।

प्रो. नेगी 2-12-2021 से 12-04-2022 तक तथा 13-04-2023 से 03-12-2023 तक के.उ.ति.शि.सं., सारनाथ के कुलपति (अतिरिक्त प्रभार) थे; और 2010 से 2015 तक केंद्रीय बौद्ध विद्या संस्थान, लेह, लद्दाख के निदेशक के पद पर भी आपने कार्य किया है। विनिमय कार्यक्रम के अन्तर्गत अतिथि प्राध्यापक के रूप में इन्होंने तस्मानिया विश्वविद्यालय, ऑस्ट्रेलिया और स्मिथ कॉलेज, हैम्पशायर कॉलेज एमहर्स्ट, मैसाचुसेट्स अमेरिका में पढ़ाया है। इन्होंने ताइशो विश्वविद्यालय, जापान में एक शोध मार्गदर्शक के रूप में और ओकायामा, जापान में संस्कृत बौद्ध पांडुलिपियों के सर्वेक्षण के लिए अतिथि प्राध्यापक के रूप में भी कार्य किया है। प्रो. नेगी ने श्रीलंका में सार्क क्षेत्रीय और सांस्कृतिक सेमिनार और कंबोडिया में भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद के (आई.सी.सी.आर.) सेमिनार में भारत का प्रतिनिधित्व किया है (भारत सरकार द्वारा नामांकित)। इसके अतिरिक्त विषय विशेषज्ञ और धर्म शिक्षक के रूप में उन्होंने चिली, ताइवान, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया, थाईलैंड और बर्मा में विश्वविद्यालयों और धर्म केंद्रों का भ्रमण किया है।

प्रो. नेगी ने भारतीय सलाहकार के रूप में, यू.एस.आई.ई.एफ. और ए.आ.ई.आई.एस., नई दिल्ली के माध्यम से संयुक्त राज्य अमेरिका, यूरोप आदि के कई फुलब्राइट शोधार्थी विद्वानों का मार्गदर्शन किया है। इन्होंने कई पुस्तकों का लेखन भी किया है, जिनमें व्हाट इज़ बुद्धिज्म (अंग्रेजी, 2016) (स्पेनिश और चीनी में अनुवादित), धम्मपद पर टिप्पणी (हिंदी, 2010) (तिब्बती 2014 और बंगाली 2012 में अनुवादित) शामिल हैं; आधुनिक समय के संदर्भ में धम्मपद पर टिप्पणी (अंग्रेजी, 2013); वज्रयान दर्शन एवं साधना (हिन्दी, 1998); वज्रयान दर्शन मीमांसा (संस्कृत, 2009); प्रज्ञापारमिता-हृदय-सूत्र-स्फुटार्थ-भाष्य - हृदय सूत्र पर टीका (हिन्दी, 2019); हिंदी/संस्कृत में अनुवादित एवं संपादित रचनाएँ सम्मिलित हैं। इनके अतिरिक्त कई लेख/अध्याय भी विभिन्न पत्रिकाओं और संकलनों में प्रकाशित हुए हैं।

Central Institute of Higher Tibetan Studies Sarnath,
Varanasi – 221007 Uttar Pradesh, INDIA
फ़ोन: 0542-2585242, 2586337, 2581737 Fax: 0542-2585150
ईमेल vcoffice@cihts.ac.in,

Steno typist P.A. to V.C.

Ph- 9415695521

Email- tsidon@cihts.ac.in

Steno typist P.A. to V.C.

Ph- 9415600692, 0542-2585148

Email- deepankar@cihts.ac.in

कार्यालय सहायक

Ph- 7752972641

Email- –

सूचना पट्ट